किसी आदेश के लिए अग्रिम प्राप्त करना एक सामान्य व्यावसायिक घटना है। आपूर्तिकर्ता आमतौर पर ग्राहकों को किसी आदेश के लिए अग्रिम भुगतान करने के लिए कहते हैं क्योंकि यह आदेश को रद्द नहीं करने की प्रतिबद्धता के रूप में कार्य करता है। उत्पाद शुल्क और वैट के तहत पंजीकृत व्यक्तियों के लिए, प्राप्त किए गए अग्रिम भुगतानों, कर के दृष्टिकोण से नगण्य था। उत्पाद शुल्क और वैट के तहत माल को हटाने या माल की बिक्री के समय, लेनदेन पर कर देने की देनदारी उत्पन्न हुई।


निर्माताओं और व्यापारियों को अब ध्यान रखना होगा कि वे ग्राहकों से प्राप्त किए गए अग्रिम भुगतानों पर GST का भुगतान करने के लिए देनदार होंगे। सेवा आपूर्तिकर्ताओं सेवा कर व्यवस्था में इस नियम से परिचित हैं, जहां वे प्राप्त अग्रिम भुगतानों पर कर का भुगतान करने के लिए देनदार हैं।
यहां, हम आपको मार्गदर्शन करेंगे कि GST के तहत अग्रिम रसीदों को प्रभावी तरीके से कैसे नियंत्रित किया जाए:

अग्रिम भुगतान प्राप्त करने पर कौन सा दस्तावेज जारी किया जाना है?

किसी आदेश के लिए अग्रिम भुगतान प्राप्त करने पर, एक आपूर्तिकार को अग्रिम भुगतान करने वाले व्यक्ति को रसीद वाउचर जारी करना चाहिए। यह ध्यान रखना ज़रूरी है कि आपूर्तिकर्ता GST के तहत प्राप्त अग्रिम भुगतान पर कर का भुगतान करने के लिए देनदार है। इसलिए, अग्रिम राशि पर लागू कर रसीद वाउचर में दिखाया जाना चाहिए। टैक्स का आकलन माल और / या सेवाओं के लिए लागू दर पर किया जाना चाहिए, जिसके लिए अग्रिम भुगतान प्राप्त हुआ है। इस आधार पर कि क्या प्राप्तकर्ता अंतःराज्यीय या अंतरराज्यीय है, कर CGST+SGST (अंतःराज्यीय) या IGST (अंतरराज्यीय) होगा।

GST के तहत अग्रिम रसीद वाउचर में दर्ज करने के लिए महत्वपूर्ण विवरण

        1. आपूर्तिकर्ता का नाम, पता और GSTIN
        2. रसीद वाउचर की सीरियल संख्या, 16 अक्षरों से अधिक नहीं, जिसमें वर्णों या अंकों या विशेष वर्ण हैंफ़ेन (-) या स्लैश (/) शामिल हैं। यह एक वित्तीय वर्ष के लिए अद्वितीय होना चाहिए
        3. जारी करने की तारिख
        4. यदि प्राप्तकर्ता पंजीकृत है, तो प्राप्तकर्ता का नाम, पता और GSTIN या UID
        5. माल या सेवाओं का विवरण
        6. अग्रिम लिया राशि
        7. टैक्स की दर (CGST, SGST, IGST, UTGST or उपकर)
        8. टैक्स की राशि (CGST, SGST, IGST, UTGST or उपकर)
        9. यदि आपूर्ति अंतरराज्यीय है, तो आपूर्ति की जगह, राज्य के नाम राज्य कोड के साथ
        10. क्या रिवर्स चार्ज पर कर देय है
        11. आपूर्तिकर्ता या उसके अधिकृत प्रतिनिधि के हस्ताक्षर या डिजिटल हस्ताक्षर

उदहारण: बंगलौर में गणेशजी प्राइवेट लिमिटेड को 2 सॉफ्टवेयर के आदेश के लिए बैंगलोर से ही पायनियर इलेक्ट्रॉनिक्स से 10,000 रूपए (टैक्स को छोड़कर) का अग्रिम भुगतान प्राप्त हुआ। 10,000 रुपए के इस अग्रिम भुगतान पर गणेशजी प्राइवेट लिमिटेड को 18% टैक्स चार्ज करना चाहिए, जो सॉफ्टवेयर पर लागू GST दर है। चूंकि पायनियर इलेक्ट्रॉनिक्स बैंगलोर में स्थित है, इसलिए कर की राशी CGST + SGST है। गणेशजी प्राइवेट लिमिटेड द्वारा जारी अग्रिम रसीद वाउचर नीचे दिखाए गये अनुसार दिखाई देगा:

यदि आपको अग्रिम भुगतान प्राप्त होने पर टैक्स की दर निर्धारित नहीं की जा सकती है, तो आपको 18% के अनुसार भुगतान करना होगा।

अगर अग्रिम भुगतान प्राप्त होने के समय आप यह निर्धारित नहीं कर सकते कि आपूर्ति अंतरराज्यीय या अंतःराज्यीय है, तो क्या करें?

इस मामले में, आपूर्ति को अंतरराज्यीय आपूर्ति के रूप में माना जाना चाहिए।

GST के तहत प्राप्त किए गए अग्रिमों का विवरण कैसे प्रस्तुत करें?

प्राप्त किये गये अग्रिम भुगतानों का विवरण, जिसके लिए माह में चालान जारी नहीं किया गया है, को फॉर्म GSTR-1 में प्रस्तुत किया जाना चाहिए:

Are you GST ready yet?

Get ready for GST with Tally.ERP 9 Release 6