हमारे पहले ब्लॉग बिना विचार के आपूर्ति और सेवाओं के आयात पर जीएसटी का प्रभाव पर हमने बिना विचारे आपूर्ति के बारे में और सेवा के आयात के बारे में चर्चा की।
यह ब्लॉग निम्नलिखित के बीच बिना विचारे आपूर्ति पर विस्तार से चर्चा करता है :
• संबंधित व्यक्ति
• विशिष्ट व्यक्ति

संबंधित व्यक्ति

“संबंधित व्यक्ति” की परिभाषा मौजूदा सीमा शुल्क मूल्यांकन नियमों के समान है। आपूर्ति केवल संबंधित व्यक्तियों के बीच माना जाती है यदि सामान या सेवाओं की आपूर्ति निम्नलिखित के बीच की गई हो :
1. एक दूसरे के व्यवसायों के अधिकारी या निदेशक: एक आपूर्ति में आपूर्तिकर्ता और प्राप्तकर्ता वास्तव में अन्य व्यवसायों के अधिकारी या निदेशक हैं|
जैसा कि ऊपर दिखाया गया है श्रीमान गणेश, गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड में एक निदेशक हैं और राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड में एक अधिकारी हैं| श्रीमान राकेश, राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड में एक निदेशक हैं। राकेश गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड में एक अधिकारी हैं इसलिए कोई आपूर्ति उन दोनों के बीच संबंधित व्यक्तियों के बीच आपूर्ति के रूप में माना जाएगी |
2. व्यवसाय में कानूनी रूप से मान्यता प्राप्त भागीदार: आपूर्तिकर्ता और प्राप्तकर्ता एक ही व्यवसाय या संबद्ध व्यवसाय में भागीदार हैं।
जैसा कि ऊपर दिखाया गया है श्री गणेश और श्री राकेश गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड में भागीदार हैं। श्री गणेश और श्री राकेश के बीच किसी भी आपूर्ति को संबंधित व्यक्तियों के बीच आपूर्ति माना जाएगा।
3. नियोक्ता और कर्मचारी: नियोक्ता और कर्मचारी के बीच माल और सेवाओं की कोई भी आपूर्ति
श्री राकेश गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड के एक कर्मचारी हैं। गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड से श्री राकेश को कोई भी आपूर्ति संबंधित व्यक्तियों के बीच आपूर्ति माना जाता है।
4. आपूर्तिकर्ता या प्राप्तकर्ता प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से 25 फीसदी या अधिक बकाया वोटिंग स्टॉक या शेयर हेतु नियंत्रण ,धारण तथा मालिकाना हक़ रखते हैं |

उदाहरण के लिए प्राप्तकर्ता आपूर्तिकर्ता के कारोबार में इक्विटी का 25% हिस्सा रखता है।
5. उनमें से एक प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से दूसरे को नियंत्रित करता है: अगर किसी भी आपूर्ति में आपूर्तिकर्ता या प्राप्तकर्ता सीधे या परोक्ष रूप से दूसरे को नियंत्रित करते हैं तो इसे संबंधित व्यक्तियों के बीच आपूर्ति माना जाता है|

प्रत्यक्ष नियंत्रण


जैसा कि ऊपर दिखाया गया है गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड में इक्विटी रखता है। गणेश ट्रेडिंग और राकेश ट्रेडिंग के बीच की आपूर्ति संबंधित हैं क्योंकि गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड सीधे राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड के व्यापार को नियंत्रित करती है।

अप्रत्यक्ष नियंत्रण


जैसा कि ऊपर दिखाया गया है, गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड में इक्विटी है राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड मैक्स ट्रेडिंग लिमिटेड में इक्विटी है। गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड और मैक्स ट्रेडिंग लिमिटेड के बीच कोई आपूर्ति संबंधित हैं। इसका कारण यह है कि गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड ने मैक्स ट्रेडिंग कारोबार पर अप्रत्यक्ष रूप से मैक्स ट्रेडिंग लिमिटेड में ‘राकेश ट्रेडिंग के’ व्यापारिक हित के जरिए नियंत्रण किया है।

6. दोनों ही सीधे या परोक्ष रूप से एक तिहाई व्यक्ति द्वारा नियंत्रित होते हैं: अगर किसी भी आपूर्ति में सप्लायर और प्राप्तकर्ता सीधे या अप्रत्यक्ष रूप से एक तिहाई व्यक्ति द्वारा नियंत्रित होते हैं|
ऊपर दिए गए उदाहरण में गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड और मैक्स ट्रेडिंग में इक्विटी रखती है। राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड और मैक्स ट्रेडिंग लिमिटेड के बीच की आपूर्ति संबंधित हैं क्योंकि दोनों ही सीधे गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड द्वारा नियंत्रित हैं।

7. साथ में वे सीधे या परोक्ष रूप से एक तिहाई व्यक्ति को नियंत्रित करते हैं: यदि किसी भी आपूर्ति में आपूर्तिकर्ता और प्राप्तकर्ता एक साथ सीधे या परोक्ष रूप से एक तिहाई व्यक्ति को नियंत्रित करते हैं|
जैसा कि ऊपर दिखाया गया है राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड मैक्स ट्रेडिंग लिमिटेड में 80% और गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड में 30% इक्विटी रखती है|
मैक्स ट्रेडिंग लिमिटेड ने गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड में 70% इक्विटी धारण की है। अब साथ में राकेश ट्रेडिंग लिमिटेड का गणेश ट्रेडिंग लिमिटेड पर नियंत्रण है और उनके बीच की आपूर्ति संबंधित व्यक्तियों के बीच आपूर्ति के रूप में माना जाएगा।
8. वे एक ही परिवार के सदस्य हैं: एक ही परिवार के सदस्यों के बीच की गई आपूर्ति को संबंधित व्यक्तियों के बीच आपूर्ति माना जाता है।

विशिष्ट व्यक्ति

एक विशिष्ट व्यक्ति को कर योग्य व्यक्ति के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जिसने एक ही राज्य या एक अलग राज्य में एक से अधिक पंजीकरण प्राप्त किए हों या प्राप्त करने की आवश्यकता हो | या उस व्यक्ति की व्यवस्थिती जिसने एक पंजीकरण प्राप्त किया हो या प्राप्त करने की आवश्यक हो और दूसरे राज्य में भी व्यवस्थित हो|
उनके प्रत्येक पंजीकरण और व्यवस्थिती को एक अलग व्यक्ति माना जाएगा और उनके बीच कोई भी आपूर्ति कर योग्य होगी।
इसलिए निम्नलिखित दो मामलों में कोई भी स्टॉक हस्तांतरण या शाखा हस्तांतरण कर योग्य हैं:
1. राज्यों के बीच स्टॉक हस्तांतरण: केवल जब एक इकाई के एक राज्य में एक से अधिक पंजीकरण हों|
उदाहरण के लिए

सुपर कार लिमिटेड कर्नाटक में स्थित एक कार विनिर्माण इकाई है। कर्नाटक में उनकी एक सेवा इकाई भी है। सुपर कार लिमिटेड ने विनिर्माण और सेवा इकाइयों दोनों के लिए अलग-अलग रजिस्ट्रेशन प्राप्त किए हैं।
सुपर कार लिमिटेड की विनिर्माण इकाई और सर्विस यूनिट को अलग-अलग व्यक्तियों के रूप में माना जाएगा और उनके बीच कोई भी सप्लाई कर योग्य होगी यहाँ तक की बिना विचार के भी।
2. अंतर राज्य स्टॉक स्थानांतरण: विभिन्न राज्यों में स्थित दो संस्थाओं के बीच स्थानांतरण कर योग्य है।

उदाहरण के लिए

सुपर कार लिमिटेड कर्नाटक में स्थित एक कार विनिर्माण इकाई है। दिल्ली में उनकी एक सेवा इकाई भी है|
दिल्ली में स्थित सुपर कार लिमिटेड की विनिर्माण इकाई और सर्विस यूनिट को अलग-अलग व्यक्तियों के रूप में माना जाएगा और उनके बीच कोई भी आपूर्ति कर योग्य नहीं होगी यहाँ तक की बिना किसी विचार के भी।
नोट: एक बार पूरा नियम उपलब्ध कराए जाने पर इस तरह की आपूर्ति के कर योग्य मूल्य पर पहुंचने के बारे में अधिक स्पष्टता उपलब्ध होगी।

Are you GST ready yet?

Get ready for GST with Tally.ERP 9 Release 6