जीएसटी में स्थलांतरण: पंजीकृत व्यवसायों के लिए

Last updated on July 16th, 2017 at 10:48 pm

Language

  • English
  • Hindi
  • Marathi
  • Kannada
  • Telugu
  • Tamil
  • Gujarati

आप के लिए पहला और सबसे महत्वपूर्ण कार्य यह है की, जैसे आपका व्यापार मौजूदा कानून के तहत पंजीकृत हैं, उसका जीएसटी में स्थलांतर हो रहा है। हालांकि जीएसटी की बुनियादी बातों को जानना महत्वपूर्ण है, मगर उसके साथ आपको जीएसटी स्थलांतरण की उपलब्ध प्रावधानों को समझना भी ज़रूरी हैं, और उसीके मुताबिक आवश्यक कार्रवाई करके जीएसटी में सुलभ संक्रमण करने की योजना बनाए और स्थलांतर के बाद मिलनेवाले लाभ सुनिश्चित कीजिए| आपको अग्रिम उचित जीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट पाने के लिए अपने लेखांकन और रिपोर्टिंग,खरीद, रसद फैसले औरअन्य कई सारी प्रक्रियाओं की समीक्षा करनी पड़ सकती हैं|

आज, विनिर्माण, बिक्री और सेवा गतिविधि एक अलग अप्रत्यक्ष कर प्रणाली द्वारा संचालित होते हैं। विनिर्माण गतिविधि केन्द्रीय उत्पाद शुल्क से कवर किया जाता है, बिक्री राज्य वैट / सीएसटी के तहत कवर किया जाता है, और सेवाओं गतिविधि सेवा कर अधिनियम के तहत कवर किया जाता है।

इस चीज़ को बेहतर और आसानी से समझ ने के लिए, हमने नीचे टॅक्स की श्रेणीयों (कर प्रकार) को  अलग अलग स्थलांतर की प्रावधानों को ध्यान में रखते हुए वर्गीकृत किया है:

  • केन्द्रीय उत्पाद शुल्क
  • वैट
  • सर्विस टैक्स

आपके कुछ ऐसे सवाल हो सकते है:

  • जीएसटी कार्यान्वयन होने से पहले, आखिरी दिन के शेयर पर निर्भर होने वाले इनपुट टैक्स क्रेडिट पर क्या असर होगा?
  • जिन पूंजीगत वस्तुओं पर इनपुट टैक्स क्रेडिट है जिसका लाभ अभी तक मिला नही हैं उसका क्या होगा?

हम इन सवालों के परिदृश्य के लिहाज से जवाब दे रहे हैं|

परिदृश्य 1:  सेनवैट और इनपुट वैट क्रेडिट का लाभ उठाया

केन्द्रीय उत्पाद शुल्क

transition-provision-revised-mgl-hindi_et

उत्पादक

निर्माता आखिरी दिन पर उपलब्ध सेनवैट क्रेडिट बॅलेन्स, इनपुट क्रेडिट के रूप में आगे ले जा सकता हैं , जीएसटी लागू किए जाने से पहले. पूर्व तारीख पर यह लाभ मिलेगा|

इसका क्या मतलब है?

  • सेनवैट क्रेडिट के समापन वक्त उपलब्ध अंतिम बॅलेन्स, पिछले रिटर्न के रसीद में प्रतिबिंबित होना चाहिए, और
  • इसे जीएसटी के तहत इनपुट टैक्स क्रेडिट के रूप में अनुमति दी जानी चाहिए

आज, किसी भी लघु उद्योग के अलावा बाकी उद्योग में निर्माण करनेवाले उत्पादक ने  (एसएसआइ- जिसका टर्नओवर 4 करोड़ से अधिक नहीं है) फॉर्म ईआर -1 में उनका मासिक रिटर्न फाइल करना चाहिए, और एसएसआइ त्रैमासिक रिटर्न  ईआर-3 में फाइल करना चाहिए|

अंतिम दिन तक, अर्थात जीएसटी को लागू होने के एक दिन पहले, जो सेनवैट की राशि ईआर -1 या फॉर्म ईआर-3 के तहत आगे बढ़ायी हैं, वे  सीजीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट के रूप में आगे ले जाने की अनुमति दी जाएगी।

एक उदाहरण के साथ इस बात को समझ लेते हैं|

सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड, एक कर्नाटक में स्थित कार  निर्माता आबकारी एवं कर्नाटक वैट के तहत पंजीकृत है।  वें ३१ मार्च, २०१७ की स्थिति के अनुसार, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड का फार्म ईआर -1 नीचे दिया गया है:

फार्म ई.आर.-1

मार्च महीने के लिए वर्ष 2017 के उत्पाद शुल्क योग्य वस्तुओं की वापसी और सेनवैट क्रेडिट के अवैलमेंट (लाभ उठाने का विधेयक)
क्रेडिट काविवरण
सेनवैट
ए ई डीटीटी ए
एनसीसीडी
एडीई_एलवीडी_सीएल_८५
एडीसी_एलवीडी_सीटी_७५
ईडीयू_सीईएसएस
एसईसी_ईडीयू_सीईएसएस
सर्विस_टॅक्स
ईडीयू_सीईएसएसएसटी
एसईसी_ईडीयू_सीईएसएस_एसटी
जमा शेष 25,000.00 0.00 0.00 0.00 0.00 0.00 0.00 0.00 0.00 0.00

फॉर्म ईआर -1 के मार्च 2017 के विवरण अनुसार, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड का 25,000 रुपए समापित सेनवैट बॅलेन्स है।

क्या सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड सेनवैट क्रेडिट को आगे ले जा सकता है?

हाँ, सुपर कार्स लिमिटेड के लिए 25,000 रुपए का समापन सेनवैट बॅलेन्स पूरी तरह से आगे ले जाने की पात्र है, इसका कारण यह है की नीचे दिए सभी शर्तों का पालन सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड करता है:

  • 25,000 रुपये की सेनवैट, रिटर्न्स में प्रतिबिंबित करना चाहिए, और
  • जीएसटी में, वही चीज़ (सेनवैट), इनपुट टैक्स क्रेडिट की रूप में दिखाने की अनुमति दी है।

अब, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड के लिए, सेनवैट क्रेडिट एक सीजीएसटी होगा। यह निर्धारित क्रम में ज़िम्मेदारियाँ पूरी करने के लिए इन देनदारियों का उपयोग कर सकता है।

आबकारी डीलर

एक व्यापारी के रूप में, आप अगर उत्पाद शुल्क योग्य वस्तुओं में व्यापार कर रहे हैं, तो आप केन्द्रीय उत्पाद शुल्क के तहत पंजीकरण करने के लिए उत्तरदायी है| आज, आपको उत्पाद शुल्क का भुगतान आपके क्रेडिट के रूप में उपलब्ध नहीं होगा। पहली या दूसरे चरण के डीलर होने के रूप में उत्पाद शुल्क का भुगतान, उत्पाद की कीमत में जोड़ा जाता हैं| यह अगर किसी निर्माता को बेच दिया जाता है, तो उत्पाद शुल्क पर पारित खरीदने वाला निर्माता उसे सेनवैट क्रेडिट के रूप में दावा कर सकता हैं|

जीएसटी जारी करने के दिन, आपके द्वारा आयोजित स्टॉक बंद करने के पहलेदी गयी उत्पाद शुल्क, आगे सीजीएसटी में परिवर्तित करके सीजीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट के रूप में आगे ले जाने की अनुमति दी जाएगी।

वॅट

transition-provision-revised-mgl-hindi_vat

वैट के तहत पंजीकृत व्यापार को, मासिक या तिमाही वैट रिटर्न फॉर्म दाखिल करने के लिए, अपने-अपने राज्यों द्वारा निर्धारित नीतियाँ देखने की जरूरत है। वैट रिटर्न फॉर्म में इनपुट वैट क्रेडिट, एसजीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट के रूप में आगे बढ़ाया जाएगा|

एक उदाहरण के साथ इस बात को समझ लेते हैं

सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड, एक कर्नाटक में स्थित कार निर्माता हैं जो कर्नाटक वैट के तहत पंजीकृत है। ३१ मार्च, २०१७ को, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड के वैट फार्म १०० (कर्नाटक के लिए मासिक रिटर्न फार्म) का विवरण नीचे दिया गया है:

फार्म वैट 100 (नियम 138 देखें)

रिटर्न

कर की अवधि (माह / तिमाही)

मार्च, 2017
क्रेडिट / अतिरिक्त भुगतान आगे बढ़ाया 5,000.00

वैट फार्म 100, मार्च 2017 के अनुसार, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड में 5,000 रुपये का एक इनपुट वैट क्रेडिट जमा शेष है।

क्या सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड इनपुट वॅट क्रेडिट को आगे ले जा सकता है ?

हाँ, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा 5000 रुपये पूरी तरह से समापन इनपुट वैट के रूप में आगे बढ़ाया जा सकता है, इसका कारण यह है की नीचे दिए सभी शर्तों का पालन सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड करता है :

  • 5,000 के इनपुट वैट, वापसी (रिटर्न्स) में परिलक्षित होता है, और
  • जीएसटी नें, वही चीज़ इनपुट टैक्स क्रेडिट के रूप में लाने की अनुमति दी है।

अब, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड के लिए, इनपुट वॅट एक सीजीएसटी होगा। यह निर्धारित क्रम में ज़िम्मेदारियाँ पूरी करने के लिए इन देनदारियों का उपयोग कर सकता है।.

सर्विस टॅक्स

transition-provision-revised-mgl-hindi_st

आज, आप एक सेवा प्रदाता है, और आपका कर भुगतान के लिए योग्य सेवाओं का कुल मूल्य 10 लाख से अधिक है, तो आप पंजीकरण के लिए उत्तरदायी है। कर योग्य सेवाओं पर लगने वाले सर्विस टैक्स के प्रकार आगे बताए गये हैं:

टॅक्स टॅक्स के दर इनपुट क्रेडिट उपलब्ध हैं? के खिलाफ सेट हैं?
सर्विस टैक्स

14%

हाँ सेवा कर और उत्पाद शुल्क की देयता
स्वच्छ भारत उपकर

0.5%

नही

कृषि कल्याण उपकर

0.5%

हाँ

केवल कृषि कल्याण उपकर दायित्व के खिलाफ

 

एक सेवा प्रदाता के रूप में, आपको फार्म एसटी -3 में छमाही रिटर्न की अवधि में फाइल करने की जरूरत है। सर्विस टॅक्स इनपुट क्रेडिट का बंद होनेवाला बॅलेन्स, सीजीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट के रूप में आगे बढ़ाया जाएगा।

हमें एक उदाहरण के साथ इसको समझते हैं।

सुपर क़ार्स लिमिटेड कर्नाटक में एक कार विनिर्माण कंपनी है। उनकी सेवाएँ प्रदान करने के लिए कर्नाटक में अनेक शाखाएं है। ३१ मार्च, २०१७ को स्थिति के अनुसार, सुपर कार्स लिमिटेड का एसटी-3 रिटर्न फॉर्म नीचे दिया गया है:

service_tax

फार्म एसटी -3 मार्च 2017 के अनुसार, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड का एक बंद होनेवाला सेनवैट बॅलेन्स(सर्विस टैक्स इनपुट क्रेडिट) 30,000 रुपये का है।

क्या सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड सेनवैट क्रेडिट को आगे ले जा सकता है ?

हाँ, सुपर कार्स लिमिटेड के लिए 30,000 रुपए का समापन सेनवैट बॅलेन्स पूरी तरह से आगे ले जाने की पात्र है, इसका कारण यह है की नीचे दिए सभी शर्तों का पालन सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड करता है:

  • 30,000 रुपये की सेनवैट, रिटर्न्स में प्रतिबिंबित करना चाहिए, और
  • जीएसटी में, वही चीज़ (सेनवैट), इनपुट टैक्स क्रेडिट की रूप में दिखाने की अनुमति दी है।

अब, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड के लिए, सेनवैट क्रेडिट एक सीजीएसटी होगा। यह निर्धारित क्रम में ज़िम्मेदारियाँ पूरी करने के लिए इन देनदारियों का उपयोग कर सकता है।

परिदृश्य 2: पूंजीगत वस्तुओं पर सेनवैट जो मिलना बाकी हैं और इनपुट वैट क्रेडिट

वर्तमान में, केन्द्रीय उत्पाद शुल्क के तहत, सेनवैट क्रेडिट का लाभ चालू वर्ष में 50% की सीमा तक उठाया जाना चाहिए, और शेष लाभ का अगले साल करना चाहिए। इसी तरह, पूंजीगत वस्तुओं की खरीद पर भुगतान किया गया वैट, तत्काल इनपुट वैट के रूप में पूरी तरह से उपलब्ध नहीं होगा। राज्य के वैट नियमों केअनुसार, और खरीदे गये पूंजीगत वस्तुओं के प्रकार पर, इनपुट वैट का लाभ निर्भर करता है,

  • विभिन्न वित्तीय वर्षों तक किश्तों का देय होता हैं|
  • वाणिज्यिक उत्पादन के प्रारंभ होने के बाद क्रेडिट के रूप में उसे नापा जाता हैं|

पूंजीगत वस्तुओं पर सेनवैट क्रेडिट का लाभ उठाने के लिए प्रचलित प्रतिबंध के कारण, जीएसटी में स्थलांतरित करने की तारीख पर वहाँ कुछ ऐसे सेनवैट टॅक्स और इनपुट वैट दिखेंगे जो अभीतक मिले नही हैं|

हमें इसे बेहतर समझने के लिए एक उदाहरण के साथ चर्चा करते हैं

सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड ने १ फरवरी २०१७ को मशीनरी खरीदी, उसके लेनदेन का ब्यौरा नीचे दिखाया गया हैं:

ब्यौरे राशि (रुपये)
मशीनरी 1,00,000
आबकारी कर@12.5% 12,500
वैट 14.5% 16,313
कुल 1,28,813

वर्तमान सेनवैट प्रावधानों के अनुसार, सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड को चालू वर्ष में 50% तक सेनवैट का लाभ उठाने की अनुमति दी है, और शेष सेनवैट का लाभ आनेवाले सालो में लिया जा सकता हैं | और कर्नाटक के वैट प्रावधानों के अनुसार, इनपुट वैट क्रेडिट केवल वाणिज्यिक उत्पादन शुरू होने के बाद समजा जाएगा| अभी मान लेते हैं की वाणिज्यिक उत्पादन जून’17 के महीने में शुरू किया जानेवाला था,

इस परिदृश्य को ध्यान में रखते – सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड नीचे बताया गया लाभ पा सकती हैं|

  • 50% सेनवैट अर्थात चालू वर्ष (2016-17) में 6,250 रु।
  • अगले वर्ष (2017-18) में 6,250 रुपये का शेष सेनवैट|
  • वाणिज्यिक उत्पादन शुरू होने के बाद इनपुट वैट क्रेडिट, 2017-18 में पात्र।

सुपर कार्स लिमिटेड को जीएसटी में स्थलांतरित होने के बाद शेष 6,250 रुपये का सेनवैट और 16,313 रुपये का इनपुट वैट क्रेडिट को आगे ले जाने के लिए अनुमति होगी?

हाँ, सुपर कार्स लिमिटेड को इस पूंजीगत वस्तुओं पर शेष सेनवैट क्रेडिट को आगे ले जाने के लिए इन शर्तों को पूरा करना होगा बाद में उन्हे अनुमति दी जाएगी:

  • मौजूदा क़ानून के तहत सेनवैट और इनपुट वैट को, इनपुट टैक्स क्रेडिट के रूप में गिनती करने की अनुमति दी जाती है।
  • यह जीएसटी में इनपुट टैक्स क्रेडिट के रूप में स्वीकार्य है।

सुपर कार्स प्राइवेट लिमिटेड सभी शर्तों को संतुष्ट करता है, और वे सेनवैट और इनपुट वैट क्रेडिट को आगे ले जाने के लिए पात्र हैं।

Are you GST ready yet?

Get ready for GST with Tally.ERP 9 Release 6

About the author

Pugal T & Yarab A

50 Comments

© Tally Solutions Pvt. Ltd. All rights reserved - 2017