अपडेट :1 फरवरी, 2018 की शाम को GST काउंसिल के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कि गई ट्वीट के अनुसार, तकनीकी मुद्दों के कारण ई-वे बिल बनाने में व्यवसायों के सामने आने वाली कठिनाइयों को ध्यान में रखते हुए, आंतरिक और अंतर-राज्य परिवहन के लिए ज़रूरी इ-वे बिल के परीक्षण चरण का विस्तार करने का निर्णय लिया गया हैI यह अनिवार्य करने के लिए बाद में एक तिथि की घोषणा कि जाएगी।

16 दिसंबर, 2017 को आयोजित की गई 24 वीं जीएसटी परिषद की बैठक में, जीएसटी परिषद ने 1 फरवरी 2018 को ई-वे बिल लॉन्च करने का निर्णय लिया, जैसा कि पहले घोषित किया गया था कि यह अप्रैल 2018 को लोन्च कि जाएगी I हालांकि तकनीकी विलंब के चलते ई-वे बिल लॉन्च को विलंबित कर दिया गया है।

जब तक कि जीएसटी परिषद एक नई तारीख की घोषणा करे, आपको ई-वे बिल से परिचित होना चाहिए, और यह आपके व्यवसाय को प्रभावित कैसे करता है यह जान लेना चाहिए। आप में से जो लोग इस ब्लॉग पोस्ट को पढ़ रहे हैं, उनके मन के एक सवाल आ रहा होगा कि, “मैं अपने व्यवसाय के लिए ई-वे बिल कैसे जनरेट करूं?”

यह ब्लॉगपोस्ट आपको ई-वे बिल के बारे में संक्षेप में बताएगा, जैसे की Tally.ERP 9 में दर्ज किए गए इन्वोइस के लिए आप उसे कैसे तैयार कर सकते हैं। हम आपको एक पूर्वावलोकन भी देंगे और यह भी बताएंगे कि आगामी Tally.ERP 9 release 6.4 का उपयोग करके आप अपने ई-वे बिल आराम से और आसानी से कैसे जनरेट कर सकते हैं ।

  • परिचय
  • Tally.ERP 9 में दर्ज लेनदेन के लिए ई-वे बिल कैसे जनरेट किया जाए
  • Tally.ERP 9 की आगामी रिलीज में ई-वे बिल का प्रबंधन करने का पूर्वावलोकन

परिचय

यदि आप 50,000 रुपये से अधिक की कीमत के सामान का परिवहन दूसरे राज्य में कर रहे है, तो आपको ई-वे बिल की आवश्यकता होगी। यह ई-वे बिल को ई-वे बिल पोर्टल पर तैयार करना होगा जहां आप या ट्रांसपोर्टर को कुछ अनिवार्य विवरण अपलोड करना पड़ेगा, जिसके बाद पोर्टल, एक ई-वे बिल के साथ-साथ एक अनूठे ई-वे बिल नंबर (EBN) जनरेट करेगा। ट्रांसपोर्टर द्वारा ई-वे बिल नंबर की एक प्रतिलिपि इन्वोइस के साथ रखना चाहिए।

Tally.ERP 9 में दर्ज लेनदेन के लिए ई-वे बिल जेनरेट करना

यदि आप पहले से ही Tally.ERP 9 का उपयोग कर रहे हैं, तो Tally.ERP 9 में दर्ज किए गए लेनदेन के लिए ई-वे बिल नंबर तैयार करने के तरीके के बारे में सरल कदम यहाँ दिखाए गए है।

ई-वे बिल में इनवॉइस विवरण और परिवहन विवरणों को कैप्चर किया जाता है। इनवॉइस स्तर का विवरण ऐसे इन्वोइस में आसानी से उपलब्ध होगा जो आपने Tally.ERP 9 में बनाया है। Tally.ERP 9 बनाए गए इन्वोइस को प्रिंट करने के लिए दो विकल्प प्रदान करता है। आप निम्न दो विकल्पों में से कोई भी चुन सकते हैं जो प्रिन्ट के दौरान F12 कॉन्फ़िगरेशन में उपलब्ध हैं।

  • “Print item-wise GST details” विकल्प
  • “Print HSN/SAC details” विकल्प

अब आपको ई-वे पोर्टल में लॉग इन करना होगा और ट्रान्सपोर्ट के विवरण के साथ साथ इन्वोइस की जानकारी प्रदान करनी होगी। आप इसे एक्सेल ऑफ़लाइन यूटिलिटी टूल्स डाउनलोड करके और इसे भर सकते है या पोर्टल में ही सीधे यह विवरण दर्ज कर सकते हैं। इसके बाद, पोर्टल इसी ई-वे बिल के साथ एक ई-वे बिल नंबर जनरेट करेगा। यह बिल मुद्रित किया जा सकता है और माल के परिवहन के समय Tally से जनरेट किए गए इन्वोइस के साथ ही इसे ले जाया जा सकता है।

आप इन्वोइस के कथन क्षेत्र में ई-वे बिल सूचना भी रिकॉर्ड कर सकते हैं। यदि आपका व्यवसाय कर्नाटक में चल रहा है, तो आप “जीएसटी विवरण प्रदान करें” के उप-फॉर्म में ई-वे बिल की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

विस्तृत जानकारी के लिए TallyHelp को देखें

आगामी Tally.ERP 9 release 6.4 ई-वे बिल प्रबंधन को और भी आसान बना देगा

अगर आप अभी अपने मौजूदा Tally.ERP 9 का उपयोग कर सकते हैं, तो टैली टीम यह सूचित करने में प्रसन्नता महेसुस करती है कि हम आपके लिए ई-वे बिल प्रबंधन को टैली में आरामदायक अनुभव बनाने के लिए फरवरी के दूसरे सप्ताह से एक नई रिलीज लॉन्च कर रहे हैं।

इसलिए अगर आप Tally.ERP 9 release 6.4 का उपयोग करते हैं, तो आपको पोर्टल में ई-वे बिल बनाने के लिए आवश्यक सभी इनवॉइस विवरणों को फिर से दर्ज करने की ज़रूरत नहीं होगी। रिलीज 6.4 आप के लिए यह सब सरल कर देता हैI नीचे रिलीज़ 6.4 की प्रमुख विशेषताओं का पूर्वावलोकन दिया गया है:

  • Tally.ERP 9 release 6.4 उन इन्वोइस की भी पहचान कर लेगा जिसकी आप को ई-वे बिल के लिए जरूरत है और अगर उसमे कोई त्रुटि रह जाती है तो आपको सूचित भी किया जाएगा कि कौन से बिल जनरेट करना आपके लिए अनिवार्य हैं।
  • इसमें आप एक क्लिक के साथ, विभाग द्वारा प्रदान की गई JSON फोर्मेट या एक्सेल ऑफ़लाइन यूटिलिटी टूल्स में ई-वे बिल नंबरों को जनरेट करने के लिए आवश्यक सभी जानकारी निर्यात कर सकते हैं।/li>
  • आपके पास प्रत्येक इनवॉइस के लिए ई-वे बिल सूचना को निर्यात करने का और एक रिपोर्ट के माध्यम से एक ही बार में कई इन्वोइस को देखने का विकल्प भी होगा जिस से आपका समय भी बचेगा।
  • ई-वे बिल पोर्टल में JSON फ़ाइल अपलोड करें। पोर्टल पर जनरेट ई-वे बिल नंबर को आप Tally.ERP 9 में उनके संबंधित इनवॉइस के जरिए अपडेट कर सकते है।
  • आप रिपोर्ट से अपने ई-वे बिल नंबरों के साथ इन्वोइस रिकॉर्ड भी ट्रैक कर सकते हैं

Tally.ERP 9 release 6.4 के लिए राह देखें। अपने व्यवसाय में ई-वे बिल जनरेशन और प्रबंधन को Tally.ERP 9 के साथ एक आराम का अनुभव बनाएं।

Are you GST ready yet?

Get ready for GST with Tally.ERP 9 Release 6

306,976 total views, 108 views today

Avatar

Author: Shailesh Bhatt