निर्माताओं के लिए, एक महत्वपूर्ण चिंता यह है, कि मौजूदा कर व्यवस्था में जॉब कार्य के लिए भेजा गया माल, जो 1 जुलाई, 2017 को जॉब कर्ता के पास हो, उसपे कर उपचार कैसे किया जाए, – क्यूंकि 1 जुलाई, 2017 माल और सेवा कर के संक्रमण की तिथि है|ऐसे प्रमुख निर्माताओं के दो प्रमुख प्रश्न हैं –

  • क्या टैक्स लागू होगा जब वर्तमान शासन में जॉब कार्य के लिए भेजे गए सामान को जीएसटी शासन में वापस लाया जाता है या आपूर्ति की जाती है?
  • 1 जुलाई, 2017 को जॉब कर्ता के पास रहने वाले सामानों के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या हैं?

आइए हम इन सवालों के जवाब दें।

1. वर्तमान शासन में जॉब कार्य के लिए भेजे गए तथा जीएसटी शासन में वापस लाये गए या आपूर्ति किए गए सामान पर लागू कर |

a. 1 जुलाई, 2017 से 6 महीने के भीतर वापस लाया गया सामान

1 जुलाई, 2017 से पहले जब आदानों, अर्ध्य -तैयार वस्तुओं या तैयार माल जॉब कर्ता को भेजे जाते हैं और 1 जुलाई, 2017 से 6 महीने के भीतर वापस प्रिंसिपल के व्यवसाय के स्थान पर लाये गए हैं , तो कोई कर लागू नहीं होगा |

b.  1 जुलाई, 2017 से 6 महीनों के भीतर जॉब कर्ता के परिसर से आपूर्ति की गई वस्तुएं

1 जुलाई, 2017 से पहले जॉब कर्ता को भेजे गए सामन की आपूर्ति 1 जुलाई, 2017 से 6 महीनों के भीतर जॉब कर्ता के स्थान से की जा सकती है , यह आपूर्ति यदि भारत में है तो कर के भुगतान के साथ और यदि निर्यात के लिए है तो कर के भुगतान के बिना की जा सकती है |

नोट:जॉब कर्ता के व्यवसाय के स्थान से माल की आपूर्ति के लिए, प्रिंसिपल को नौकरी कार्यकर्ता के व्यवसाय के स्थान को अपने अतिरिक्त स्थान के व्यापार के रूप में घोषित करना होगा, जब तक कि-

  • जॉब कर्ता पंजीकृत है या
  • आपूर्ति अधिसूचित वस्तुओं की है
c.  1 जुलाई, 2017, से 6 महीनों के भीतर सामान वापस नहीं लाए गए हैं या नहीं दिए गए हैं

जब 1 जुलाई, 2017 से पहले जॉब कर्ता को भेजे गए सामान को 1 जुलाई, 2017 से 6 माह के भीतर प्रिंसिपल के व्यवसाय के स्थान पर नहीं लाया गया है या आपूर्ति नहीं की गई है, प्रिंसिपल को अधिकतम 2 महीनों तक विस्तार प्राप्त करने का विकल्प होता है, और इसके लिए, प्रिंसिपल को पर्याप्त कारण दिखाना होगा और आयुक्त से अनुमोदन प्राप्त करना होगा।

अगर माल 1 जुलाई, 2017 से या 6 महीने के भीतर, या विस्तारित तारीख (आयुक्त द्वारा अनुमोदित) तक वापस नहीं लाया गया है, तो इन निविष्टियों या अर्द्ध-तैयार वस्तुओं पर प्रिंसिपल द्वारा प्राप्त इनपुट टैक्स क्रेडिट रिवर्स कर दिया जाएगा।.

चित्रण : बैंगलोर में एक पंजीकृत परिधान निर्माता राजेश एपेरल्स, 15 जून, 17 को बैंगलोर में ही पंजीकृत जॉब कर्ता रमेश एम्बॉयडर्सको कढ़ाई के लिए 100 कुर्ते भेजते हैं | 1 जनवरी, 2018 तक कढ़ाई के काम के लिए कुर्तों की स्थिति नीचे दी गई है:

स्थितिमात्राकर उपचार
20 अगस्त, 17 को राजेश एपरेल्स को वापस प्राप्त हुए40कोई कर लागू नहीं है
रमेश एम्बॉयरर्स के परिसर से 15 सितंबर 17 को बेंगलुरु में एक ग्राहक से आपूर्ति की गई30सीजीएसटी + एसजीएसटी ग्राहक को कुर्तों की आपूर्ति पर लागू होगा
वापस नहीं लाया या आपूर्ति नहीं की गई30कुर्तों पर राजेश एपरेल्स द्वारा प्राप्त आईटीसी को उलट कर दिया जाएगा

 

2. 1 जुलाई, 2017 को जॉब कर्ता के पास रहे माल के लिए आवश्यक दस्तावेज

1 जुलाई, 2017 को एक प्रिंसिपल निर्माता की ओर से जॉब कर्ता द्वारा रखे गए सामानों के लिए, निर्माता और जॉब कर्ता (यदि पंजीकृत) को माल का विवरण घोषित करना होगा | यह घोषणापत्र 1 जुलाई, 17 से 90 दिनों के भीतर फार्म जीएसटी टीआरन -1 में इलेक्ट्रॉनिक रूप से जमा किया जाना है |

प्रिंसिपल को फॉर्म जीएसटी टीआरन -1 की खंड 9 (ए) में जॉब कर्ता द्वारा आयोजित माल के ब्योरे को घोषित करना होगा, जैसा कि नीचे दिखाया गया है:

a. धारा 141 के तहत नौकरी कार्यकर्ता को प्रिंसिपल के रूप में भेजे गए माल का विवरण

Goods sent to principal Job Work

एक जॉब कर्ता (यदि पंजीकृत है) को प्रिंसिपल निर्माता के क्रम में फॉर्म जीएसटी टीआरन -1 की खंड 9 (बी) में स्टॉक के विवरण को घोषित करना होगा, जैसा की नीचे दिखाया गया है :

b. धारा 141 के तहत प्रिंसिपल की ओर से जॉब कर्ता के रूप में स्टॉक में रखे सामान का विवरण

Stock held principal manufacturer-wise

निष्कर्ष

जीएसटी में जाने की प्रक्रिया और जॉब कर्ता के पास पड़े माल की रिपोर्टिंग को जीएसटी शासन के तहत सरल बनाया गया है | 1 जुलाई 2017 तक जॉब कर्ता के पास पड़े सामान का ब्योरा निर्माता और जॉब कर्ता (यदि पंजीकृत हो) को 90 दिनों के भीतर फॉर्म जीएसटी टीआरएन -1 में घोषित करना चाहिए | इसके अलावा, यह सुनिश्चित करने के लिए कि माल पर आईटीसी को रिवर्स नहीं किआ जाए, सारे माल को 6 महीने के अंदर वापस लाया जाना चाहिए या आपूर्ति की जानी चाहिए |

Are you GST ready yet?

Get ready for GST with Tally.ERP 9 Release 6

68,415 total views, 28 views today