सितंबर, 2018 का जीएसटीआर -3 बी उस जीएसटीआर -3 बी की तुलना में थोड़ा अलग है जिसे आपने पहले के दिनों में दायर किया है। यह अन्तर प्रारूप के बारे में नहीं है बल्कि यह सितंबर 2018 के जीएसटीआर -3 बी दर्ज करने में शामिल अनुपालन गतिविधियों, प्रयास और समय के बारे में है।

हाँ, आपने सही अनुमान लगाया है! यह अंतर जुलाई 2012 से मार्च 2013 तक के चालानों पर अनधिकृत आईटीसी पर दावा करने का आखिरी मौका है।

आपको ज्ञात होगा कि 1 जुलाई 2017 से 31 मार्च 2018 के दौरान आपूर्तिकर्ताओं द्वारा जारी किए गए चालान से संबंधित इनपुट टेक्स क्रेडिट का दावा सितंबर 2018 के जीएसटीआर -3 बी दर्ज करने पर या उससे पहले किया जाना चाहिए। इसका तात्पर्य है कि आईटीसी का दावा करने का अंतिम अवसर सितंबर 2018 के जीएसटीआर -3 बी में इसे रिपोर्ट करना है।

अच्छी खबर यह है कि जीएसटीआर -3 बी जमा करने की देय तिथि 25 अक्टूबर, 2018 तक बढ़ा दी गई है, जिसका मूल रूप से 20 अक्टूबर 2018 को निर्धारित किया गया था।

आइए समझने में आसानी के लिए एक उदाहरण पर विचार करें।

यदि 31 मार्च 2018 को आपूर्तिकर्ता द्वारा चालान जारी किया गया है और यदि 25 अक्टूबर 2018 तक दायर जीएसटीआर -3 बी में ऐसे चालान पर आईटीसी पर दावा नहीं किया गया है, तो इस तरह के चालान से संबंधित क्रेडिट पर दावा नहीं किया जा सकता है और यह समाप्त हो जाएगा।

अपने आईटीसी को समाप्त होने से बचाने के लिए, निम्नलिखित कुछ महत्वपूर्ण बातें हैं जिन्हें आपको सितंबर, 2018 के जीएसटीआर -3 बी दर्ज करने से पहले विचार करने की आवश्यकता है।

  • जीएसटी पोर्टल से जीएसटीआर -2 ए डाउनलोड करें
  • अपने खातों की पुस्तकों से जीएसटीआर -2 ए को समायोजित करें।
  • समायोजन गतिविधि में जीएसटीआर -2 ए के साथ आपके क्रय रजिस्टर की पंक्ति-वार तुलना शामिल है।
  • समायोजन पश्चात, जुलाई 2017 से मार्च 2018 तक के क्रय की पहचान करें जिस पर आईटीसी का दावा नहीं किया गया है।
  • आदर्श रूप से, वह क्रय जो जीएसटीआर -2 ए का भाग हैं लेकिन आपकी पुस्तकों में प्रतिबिंबित / दर्ज नहीं हैं, उन्हें आपको आईटीसी के लिए तलाश करने और दावा करने की आवश्यकता है।
  • आपको पुस्तकों में उल्लिखित चालानों की पहचान करने के लिए अपने पिछले जीएसटीआर-3 बी रिटर्न को सत्यापित करने की आवश्यकता हो सकती है जिनपर दावा नहीं किया गया है।
  • दावा नहीं किए गए क्रय चालानों की पहचान के बाद, ऐसे चालानों पर आईटीसी पात्रता निर्धारित करें। अर्थात्, आईटीसी या तो अवरुद्ध या प्रतिबंधित नहीं होना चाहिए।
  • सितंबर महीने के आईटीसी के साथ जीएसटीआर -3 बी में रिपोर्ट करके जुलाई 2017 से मार्च 2018 तक के चालान पर पात्र आईटीसी का दावा करें।

किसी भी व्यवसाय के लिए जीएसटी का अनुपालन करने के लिए रिटर्न के साथ पुस्तकों का समायोजन महत्वपूर्ण है। यह एक बार की गतिविधि नहीं है जिसे आपको बिना दावा किए गए आईटीसी का लाभ उठाने के लिए करना है, बल्कि यह एक सतत गतिविधि है जिसे हर महीने किया जाना चाहिए। खातें की पुस्तकों के साथ रिटर्न का समायोजन व्यवसायों को निम्नलिखित की पहचान करने में सहायता करेगा:

  • आपूर्तिकर्ता जिन्होंने अपना जीएसटीआर -1 दायर नहीं किया है
  • ऐसे उदाहरण जहां आपके आपूर्तिकर्ताओं द्वारा गलत विवरण दिया जा रहा है
  • वे मामले जिनमें गलत जीएसटीआईएन का विवरण दिया गया है
  • चालान जिन पर आईटीसी का लाभ नहीं उठाया गया है
  • जारी डेबिट नोट्स और क्रेडिट नोट्स के कारण बेमेल खाते

सबसे बढ़कर, यह आपको 2ए, 3बी, पुस्तकों, फॉलो-अप और समय पर कार्य करने के बीच अन्तर की पहचान करने में मदद करता है।

हालांकि समायोजन के कई लाभ हैं लेकिन आप केवल सिस्टम की सहायता से समायोजन पर आधारित होकर इन का लाभ उठा सकते हैं। मैन्युअल समायोजन में शामिल प्रयास और समय बहुत अधिक है। इसमें खातों की अपनी पुस्तकों के साथ जीएसटीआर-2 ए की पंक्तिबद्ध तुलना शामिल है। इसलिए, यह अनुशंसा की जाती है कि आपको ऐसे सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता है जो जीएसटीआर-2 ए और पुस्तकों में दर्ज क्रय चालान पढ़कर समायोजन गतिविधि को स्वचालित करे।

Tally.ERP 9 का उपयोग करके, आप जीएसटीआर-2 ए अपलोड कर सकते हैं और स्वचालित रूप से पुस्तकों और जीएसटीआर-2 ए में किए गए क्रय का मेल कर सकते हैं। अधिक जानने के लिए, कृपया खातों की पुस्तकों के साथ जीएसटीआर-2 ए का समायोजन पढ़ें।

Are you GST ready yet?

Get ready for GST with Tally.ERP 9 Release 6

50,705 total views, 35 views today