रिवर्स चार्ज एक अवधारणा है जिसके बारे में हम पिछले कर शासन में जान चुके हैं। सरल तरीके से कहें तो, रिवर्स चार्ज के तहत, सरकार को लेनदेन पर कर का भुगतान करने की देयता प्राप्तकर्ता पर है। सेवा कर के तहत, रिवर्स चार्ज विशिष्ट अधिसूचित सेवाओं के मामले में लागू था। लगभग हर राज्य में, अपरिवर्तित डीलरों से खरीद करने पर, एक पंजीकृत व्यक्ति को अपंजीकृत विक्रेता की तरफ से कर का भुगतान करना पड़ता था। यह आयात के मामले में भी लागू था, जहाँ आयातक को सरकार को आयात शुल्क का भुगतान करना पड़ता था।

GST के तहत, रिवर्स चार्ज इन 3 परिदृश्यों में लागू होता है:

• अधिसूचित वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति
• आयात
• अपंजीकृत डीलरों से खरीद

अधिसूचित वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति

कुछ वस्तुओं और सेवाओं के लिए अधिसूचित किया गया है, जिनको प्राप्त करने पर, प्राप्तकर्ता द्वारा सरकार को कर का भुगतान करना होगा। इन अधिसूचित वस्तुओं में काजू खोल समेत, बीड़ी आवरण पत्तियों और तम्बाकू के पत्ते शामिल हैं। जिन सेवाओं पर प्राप्तकर्ता को रिवर्स चार्ज पर कर चुकाना है, वह यहाँ उपलब्ध है।

आयात

जब आप सामान और/या सेवाओं को आयात करते हैं, तो आपको माल और/या सेवाओं पर लागू दर के अनुसार, उस आयात पर सरकार को कर का भुगतान करना होगा। माल या सेवाओं के मूल्य पर आयात किये जाने पर, सीमा शुल्क को अलग से लगाया जाएगा, क्योंकि यह GST के तहत शामिल नहीं है। मूल कीमत + सीमा शुल्क पर, IGST लगाया जाएगा।

अपंजीकृत डीलरों से खरीद

जब आप अपंजीकृत डीलरों से कर योग्य माल और/या सेवाओं की खरीद करते हैं, तो आपको आपूर्ति पर सरकार को कर का भुगतान करना होगा। यह कर सामान और/या सेवाओं पर लागू दर के अनुसार होगा। ध्यान दें कि यह रिवर्स चार्ज लागू नहीं होता है यदि पंजीकृत न किए गए डीलरों से एक दिन में खरीदारी का कुल मूल्य रु. 5,000 से अधिक ना हो।

उस आपूर्ति के लिए चालान कैसे बनायें, जिस पर रिवर्स चार्ज पर कर का भुगतान करना है?

आप उस आपूर्ति के लिए, जिस पर रिवर्स चार्ज पर टैक्स का भुगतान किया जाता है, चालान इस प्रकार बना सकते हैं, जैसा कि नीचे दिखाया गया है:

supply invoice sample - reverse charge

रिवर्स चार्ज पर किस प्रकार का भुगतान किया जाना चाहिए, इसका विवरण कैसे प्रस्तुत करना है?

अधिसूचित वस्तुओं और/या सेवाओं की जावक आपूर्ति का विवरण, जिस पर रिवर्स चार्ज के आधार पर प्राप्तकर्ता द्वारा भुगतान किया जाता है, को फॉर्म GSTR-1 में प्रस्तुत किया जाना चाहिए:

taxable outward supplies - reverse charge

आवर्ती आपूर्ति का विवरण, जिस पर रिवर्स चार्ज के आधार पर आपके द्वारा कर का भुगतान किया जाता है, फॉर्म GSTR-2 में प्रस्तुत किया जाना चाहिए:

inward supply

Are you GST ready yet?

Get ready for GST with Tally.ERP 9 Release 6

62,215 total views, 11 views today